दरोगा हत्याकाण्ड: पुलिस ने जेल से लिया बदमाशों से मिलने वालों का रिकार्ड…

बिजनौर। दरोगा सहजोर सिंह मलिक हत्याकाण्ड की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस ने जेल में बंद बदमाशों से मिलने वालोंं की कुंडली भी खंगालनी शुरू कर दी है। पुलिस ने जेल प्रशासन से उनका रिकार्ड लिया है ताकि संदिग्ध लोगों की पहचान कर उनसे हत्याकाण्ड के संबंध में कोई क्लू मिल सके। पुलिस ने दरोगा के सर्विस रिवाल्वर के लिए दूर तक जंगल छान लिया लेकिन रिवाल्वर नहीं मिला।
बालावाली चौकी इंचार्ज सहजोर सिंह मलिक की गला रेतकर हत्या की घटना के 4 दिन बाद भी पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची। दर्जनों लोगों से पूछताछ के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। मंगलवार को पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए जेल में बंद बदमाशों से मिलने वाले लोगों का रिकॉर्ड इकट्ïठा किया। जिले के एक वरिष्ठï पुलिस अधिकारी के नेतृत्व में पुलिस जिला कारागार पहुंची और जेल प्रशासन से पिछले दिनों जेल में बंद बदमाशों से मिलने वाले लोगों की जानकारी इकट्ïठा कीं। पुलिस का मानना है कि जेल में बंद आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों से मिलने आने वाले लोगों से हत्याकाण्ड के संबंध में कुछ अहम जानकारी मिल सकती है। पुलिस हत्याकाण्ड से जुड़े हर बिंदु की गहनता से जांच कर रही है। मुख्यत: पुलिस हत्याकाण्ड की वजह रंजिश और आपराधिक वारदात मानकर चल रही है। दोनों ही बिंदुओं की बारीकी से जांच की जा रही है। पुलिस अभी तक दरोगा का सर्विस रिवाल्वर भी बरामद नहीं कर पायी। सीओ सिटी ने बताया कि दरोगा सहजोर सिंह के सर्विस रिवाल्वर की तलाश की जा रही है। पुलिस ने रिवाल्वर की तलाश में दूर तक जंगल छान लिया लेकिन रिवाल्वर का पता नहीं चला।

Leave a Reply

Your email address will not be published.