उपचुनाव: दो सीटें भाजपा, एक पर आप का कब्जा…

नयी दिल्ली, 28 अगस्त। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गोवा की दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव में जीत हासिल की है जबकि दिल्ली में उसे झटका लगा है जहां बवाना विधानसभा सीट पर आम आदमी पार्टी (आप) ने फिर से कब्जा कर लिया। आंध्र प्रदेश की नंदयाल सीट तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के खाते में गयी है।
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर पणजी विधानसभा सीट के उपचुनाव में और स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे वालपोई विधानसभा सीट के उपचुनाव में विजयी रहे हैं। श्री पर्रिकर ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के उम्मीदवार गिरीश चोडांकर को 4803 मतों से हराया। श्री पर्रिकर को 9862 और श्री चोडांकर को 5059 मत मिले। गोवा सुरक्षा मंच के आनंद शिरोडकर को 220 और निर्दलीय उम्मीदवार केनेथ सिल्विरा को महज 96 वोट मिले। श्री राणे ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के रॉय नाइक को 10066 मतों से हराया। श्री राणे को 16,167 वोट मिले जबकि श्री नाइक को 6101 तथा निर्दलीय उम्मीदवार को 316 वोट मिले हैं। उत्तर पश्चिमी दिल्ली की बवाना विधानसभा सीट पर बड़ी सफलता हासिल करते हुए आप के उम्मीदवार रामचंद्र ने भाजपा के वेदप्रकाश को 24052 मतों से हराया। श्री रामचंद्र को 59886 और उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी श्री वेदप्रकाश को 35834 मत मिले। तीन बार विधायक रह चुके कांग्रेस के सुरेन्द्र कुमार तीसरे स्थान पर रहे और उन्हें 31919 मतों से संतोष करना पड़ा। भाजपा ने इस सीट पर आप छोड़कर आये श्री वेदप्रकाश को अपना उम्मीदवार बनाया था। वह इस सीट से पिछले चुनाव में आप के टिकट पर जीते थे। आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले की नंदयाल विधानसभा सीट के उपचुनाव में सत्तारूढ़ तेदेपा के उम्मीदवार भूमा ब्रह्मानंद रेड्डी ने जीत हासिल की है। श्री रेड्डी ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंदी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की सिल्पा मोहन रेड्डी को 27466 मतों से पराजित किया। उन्हें कुल 97076 तथा वाईएसआर कांग्रेस उम्मीदवार को 69610 वोट मिले। कांग्रेस के जी अब्दुल खादर महज 1382 मत हासिल कर पाये। भाजपा ने गोवा विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में सरकार बनाने के लिए श्री पर्रिकर को रक्षा मंत्री के पद से इस्तीफा दिलाकर वहां भेजा था। मुख्यमंत्री बनने के बाद श्री पर्रिकर का छह माह के भीतर विधानसभा का सदस्य बनना जरूरी था इसलिए वह इस उपचुनाव में खड़े हुए थे। गौरतलब है कि गोवा विधानसभा में 40 सीटें हैं। दो सीटें जीतने के बाद भाजपा विधायकों की संख्या 14 हो गयी जबकि कांग्रेस के 16 विधायक है।
राज्य में भाजपा नीत गठबंधन सरकार को गोवा फारवर्ड पार्टी और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के तीन-तीन विधायकों के अलावा तीन निर्दलियों का समर्थन प्राप्त है। एक विधायक राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री पर्रिकर और श्री राणे को बड़े अंतर से जीत हासिल करने पर बधाई दी है। उन्होंने गोवा के लोगों को भी भाजपा को समर्थन देने के लिये धन्यवाद दिया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.