बिजनौर जिले को औद्योगिक रूप से विकसित करने के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश…

बिजनौर। अपर जिलाधिकारी प्रशासन मदन सिंह गब्र्याल ने निर्देश दिये कि उद्यमियों को पात्रता की जांच करने के बाद ही जो भी भूखण्ड आवंटित किए जाएं, ताकि किसी भी स्तर पर अनियमित्ता का अंदेशा न रहे। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि उद्यमियों की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें। साथ ही जिले को औद्योगिक रूप से विकसित करने के लिए कार्य योजना बनायें। उन्होंने कहा कि जिला बिजनौर का वातावरण उद्योगों की स्थापना के लिए बहुत अनुकूल है।
श्री गब्र्याल जिलाधिकारी श्री जगतराज के निर्देशों के अनुपालन में कलैक्ट्रेट सभागार में उद्योग बन्धु की आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।
उन्होंंने ने कहा कि जिले को औद्योगिक क्षेत्र में विकसित करने के लिए जरूरी है कि शासन द्वारा नये उद्योगों की स्थापाना हेतु सुविधाओं एवं कार्यक्रमों का व्यापक रूप से प्रचार प्रसार किया जाये। एडीएम ने समीक्षा करते हुए पाया कि एकल मेज व्यवस्था के तहत कोई मामला लम्बित नहीं है, विद्युत विभाग से संबंधित मामले निस्तारित कर दिये गये हैं। उन्होंने बिजली सुरक्षा, भूखण्ड आवंटन आदि से संबंधित लम्बित मामलों के बारे में निर्देश दिये कि जिन उद्यमियों द्वारा अपने उद्योग की स्थापना के लिए आवेदन किये हैं और औद्योगिक आस्थान में भूखण्ड भी उपलब्ध हैं, तत्काल नियमानुसार उनका आवंटन सुनिश्चित किया जाए ताकि वहां उद्योग स्थापित हो सकें। इस अवसर पर सभी संबंधित अधिकारी एवं जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए उद्योग बन्धु मौजूद थे।
महिला के बाल कटे
नांगल सोती। ग्राम गौसपुर में दिन दहाड़े एक महिला के बाल कट गए। सूचना पर महिला के घर पर तमाम ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। गौसपुर निवासी महिला अतरकली 50 वर्ष मंगलवार को दोपहर बाद बाथरूम में नहाकर बाहर निकली तथा शीशा देखा तो उसके बाल कटे हुए थे। महिला बाल कटे देखकर भौचक्की रह गई। धीरे-धीरे यह खबर गांव में फैली, तो महिला के घर पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। गौसपुर में पहले भी एक महिला के बाल कट चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.